उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- असीमित संख्या में तीर्थयात्री अब चारधाम यात्रा कर सकेंगे , हाईकोर्ट ने दी अनुमति - bimaloan.net
Uttarakhand

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- असीमित संख्या में तीर्थयात्री अब चारधाम यात्रा कर सकेंगे , हाईकोर्ट ने दी अनुमति

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- असीमित संख्या में तीर्थयात्री अब चारधाम यात्रा कर सकेंगे , हाईकोर्ट ने दी अनुमति Listen to this article

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- असीमित संख्या में तीर्थयात्री अब चारधाम यात्रा कर सकेंगे , हाईकोर्ट ने दी अनुमति

आज नैनीताल हाईकोर्ट में चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने को लेकर सरकार के द्वारा अपील की गई थी जिसकी सुनवाई में आज हाई कोर्ट के द्वारा उत्तराखंड की सरकार को बड़ी राहत देते हुए । अब असीमित तीर्थयात्री की संख्या चारधाम यात्रा कर सकेंगे की अनुमति दी ,

क्योकि पूर्व में हाई कोर्ट के द्वारा तीर्थयात्रियों की संख्या सिमित की गई थी जहाँ केदारनाथ धाम में प्रतिदिन 800 की अनुमति थी बद्रीनाथ धाम में 1000 लोगो को दर्शन की अनुमति थी , गंगोत्री धाम में 600 लोगों को दर्शन की अनुमति थी और यमनोत्री धाम में 400 श्रद्धालुओं की अनुमति थी ,

चारधाम यात्रा के लिए फिर से 6 अक्टूबर से पंजीकरण की प्रक्रिया पुनः प्रारम्भ की जाएगी जिसके लिए आधार नंबर की अनिवार्यता रखी गई है ।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- उत्तराखंड सरकार के द्वारा अनुमति के लिए दिया था प्रार्थना पत्र

तीर्थयात्रियों की संख्या को बढ़ाने के लिए हॉल ही में सरकार के द्वारा नैनीताल हाई कोर्ट में प्रार्थनापत्र दिया गया था। जिसके लिए सोमवार को उत्तराखडं सरकार के प्रतिनिधि महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर एवं मुख्य स्थायी अधिवक्ता चंद्रशेखर रावत के द्वारा शीघ्र सुनवाई के लिए प्रार्थना पत्र दिया गया था ।

सरकार के महाधिवक्ता के द्वारा सरकार का पक्ष रखते हुए कहाँ गया की पूर्व में कोविड के कारणों को देखते हुए कोर्ट के द्वारा श्रद्धालुओं की संख्या को सिमित किया गया था । लेकिन वर्तमान में राज्य में कोविड के केस ना के बराबर ही आ रहे है , इसलिए आपसे आग्रह है की चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की जो निर्धारित सख्या है उसको बढ़ा दिया जाए।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- चारधाम यात्रा के लिए बचे है मात्र 40 दिन

महाधिवक्ता के द्वारा कहा गया की चारधाम यात्रा के समाप्ति में अब बस 40 दिन का समय ही बचा है । इसलिए जितने भी श्रद्धालु दर्शन करने के लिए यहाँ आ रहे है उनको आने की अनुमति दे दी जाए। क्योकि जिन लोगो के द्वारा ऑनलाइन आवेदन किया जा रहा है वो लोग भी कम ही आ रहे है । जिस से स्थानीय लोगों की रोजी रोटी पर संकट खड़ा हो रहा है । एवं सरकार के द्वारा कोर्ट के द्वारा जो निर्देश जारी किये गए थे उनका पुणता से पालन किया जा रहा है ।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- मुख्यमत्री धामी की यात्रियों से अपील की कोविड नियमों का पालन जरूर करें

सीएम पुष्कर सिंह धामी के द्वारा इस निर्णय के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहाँ की हाई कोर्ट के इस निर्णय के बाद अब ज्यादा तीर्थयात्री चारधाम दर्शन के लिए आ सकेंगे। यात्रियों को सभी सुविधाओं की पर्याप्त व्यवस्था की जाये इसके लिए अधिकारियो को निर्देश दिया गया है । एवं साथ साथ यात्रियों से अपील है यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल के निर्देशों का पालन करे सभी । सरकार के द्वारा इस महामारी की रोकथाम में किसी प्रकार की ढिलाई नहीं बरती जाएगी । यात्रियों के लिए चारधाम यात्रा के दौरान आरटीपीसीआर रिपोर्ट और डबल डोज वैक्सीनेशन की अनिवार्यता है ।

इसके साथ आज उत्तराखंड भाजपा प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार के द्वारा बद्रीनाथ धाम पहुंचकर दर्शन किये गए । इस दौरान उनके द्वारा भी हाई कोर्ट उत्तराखडं के द्वारा चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की सख्या बढ़ाए जाने पर धन्यवाद दिया हाई कोर्ट को ।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- चारधाम यात्रा के लिए 6 अक्टूबर से पंजीकरण प्रारम्भ ।

सभी चारो धामों केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की 15 अक्टूबर से आगे की यात्रा के लिए 6 अक्टूबर बुधबार से पंजीकार प्रारम्भ किये गए है , नवरात्रो के कारण चारो धामों में लगभग 70 हजार यात्रियों के द्वारा पंजीकरण करवाया गया है जो 15 अक्टूबर तक सभी पंजीकरण फुल हैं ।

चारधाम यात्रा के लिए तीर्थ यात्री स्मार्ट सिटी पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करके की जरुरत नहीं ।

चारधाम यात्रा के लिए अब बाहरी राज्य से आने वाले यात्रियों के लिए स्मार्ट सिटी पोर्टल पर पंजीकरण की अनिवार्यता ख़त्म कर दी गयी हैं।
लेकिन ई-पास के लिए यात्रियों को देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करना अनिवार्य होगा ।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- चारधाम यात्रा के लिए देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट से पंजीकरण प्रक्रिया ।

  • सर्वप्रथम आवेदक को चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर आना होगा www.devasthanam.uk.gov.inwww.badrinath-kedarnath.gov.in पर .
  • आवेदन करने के लिए यात्री को सर्वप्रथम मोबाइल नंबर , ईमेल आईडी एवं आधार कार्ड की आवश्यकता होगी .
  • सबसे पहले यात्री को रजिस्ट्रेशन करना होगा उसके लिए आवेदक को अपना मोबाइल नंबर , अपना नाम , अपना लिंग , अपनी ईमेल आईडी एवं निचे दिया गया कैप्चाई भरे और सबमिट कर दे .

चारधाम यात्रा 2021 पंजीकरण प्रक्रिया
  • इसके पश्चात मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा जिसको अपने भरकर फिर कैप्चाई भरना होगा उसके पश्चात सबमिट करना होगा .
उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट
  • इसके पश्चात अगले स्टेप पर जाकर पूछी गई सभी पूछी गई जानकारी भरकर सबमिट करे और अपना रेजिस्टशन प्रक्रिया पूरी करे .

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- चारधाम

केदारनाथ धाम
केदारनाथ मंदिर उत्तर भारत में पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है, जो समुद्र तल से 3584 मीटर की ऊंचाई पर मंदाकिनी नदी के तट पर स्थित है। इस क्षेत्र का ऐतिहासिक नाम “केदार खंड” है। केदारनाथ मंदिर उत्तराखंड में चार धाम और पंच केदार का एक हिस्सा है और भारत में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। हरिद्वार से केदारनाथ की दुरी 123 किलोमीटर की है ।

बद्रीनाथ धाम
बदरीनाथ भगवान विष्णु के 108 दिव्य देसम अवतारों में वैष्णवों के पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। बद्रीनाथ शहर योग ध्यान बद्री, भविष्य बद्री, आदि बद्री और वृद्ध बद्री सहित बद्रीनाथ मंदिर सहित पंच बद्री मंदिरों का भी हिस्सा है। हरिद्वार से बद्रीनाथ की दुरी 315 किलोमीटर की है ।

गंगोत्री धाम

गंगोत्री पवित्र गंगा (गंगा) के मूल स्रोतों में से एक है, और हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण चार धाम तीर्थों में से एक है। नदी का मुख्य उद्गम गौमुख है जो गंगोत्री मंदिर से 19 किमी दूर स्थित एक ग्लेशियर है। गंगा नदी दुनिया की सबसे लंबी और सबसे पवित्र नदी है। हरिद्वार से केदारनाथ की दुरी 286 किलोमीटर की है ।

यमनोत्री धाम
यमुना नदी के स्रोत पर यमुनोत्री का तीर्थ। वास्तविक स्रोत, के ऊपर बंदर पुंछ चोटी (3615 मीटर) का एक किनारा है। समुद्र तल से 4421 मीटर की ऊंचाई पर कालिंद पर्वत पर स्थित बर्फ और ग्लेशियर (चंपासर ग्लेशियर) की जमी हुई झील लगभग 1 किमी आगे आसानी से सुलभ नहीं है। इसलिए मंदिर को पहाड़ी की तलहटी में स्थित किया गया है। दिव्य माता यमुना का मंदिर टिहरी गढ़वाल के महाराजा प्रताप शाह ने बनवाया था। हरिद्वार से केदारनाथ की दुरी 122 किलोमीटर की है ।

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- चारधाम यात्रा से सम्बंधित संपर्क नंबर :-

उत्तराखंड चारधाम यात्रा अपडेट :- असीमित संख्या में तीर्थयात्री अब चारधाम यात्रा कर सकेंगे , हाईकोर्ट ने दी अनुमति

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button
Uttarakhand High Court ने किशोर बलात्कार पीड़िता को 25 सप्ताह के गर्भ को समाप्त करने की अनुमति दी SBI credit cards Reward points Kaise Prapt Kare ? Preview: Crystal Palace vs. Trabzonspor prediction, team news, lineups फीफा वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल की 8 टीमें पक्की Top 10 Dribbles Player in FIFA World Cup History