क्या आप जानते हैं Uttarakhand के Dronagiri village In Chamoli गांव के स्थानीय लोग भगवान हनुमान से क्यों खफा हैं ? - bimaloan.net
Uttarakhand

क्या आप जानते हैं Uttarakhand के Dronagiri village In Chamoli गांव के स्थानीय लोग भगवान हनुमान से क्यों खफा हैं ?

Dronagiri village In Chamoli द्रोणागिरी पर्वत की तलहटी में स्थित द्रोणागिरी गांव में गिने-चुने परिवार ही रहते हैं। गांव में निवासियों की मात्रा कम हो सकते हैं लेकिन गांव एवं पहाड़ के आसपास औषधीय पौधों की किसी प्रकार की कोई कमी नहीं है। यह क्षेत्र स्थानीय औषधीय पौधों की विभिन्न प्रजातियों में समृद्ध है।

Dronagiri village In Chamoli एक अद्भुत एवं रमणीय स्थल है जिसे अधिकतर ट्रैकर्स के द्वारा कवर किया जाता है, जो ज्यादातर ट्रेकर्स द्वारा कवर किया जाता है। ट्रेकिंग ही एकमात्र एक प्रमुख बाहरी गतिविधि है जो कोई भी व्यक्ति यहां कर सकता है।

Dronagiri village In Chamoli : लेकिन इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से हम यहां Dronagiri trek के बारे में बात नहीं करेंगे, हम यहां Dronagiri village एवं उससे जुड़ी कुछ किंवदंतियों के बारे में बात करेंगे।

Dronagiri trek , Dronagiri village In Chamoli
Dronagiri trek

ऐसा कहा जाता है कि इस गांव के रेवासी हनुमान की आराधना नहीं करते हैं; ऐसा करने के पीछे उनका अपना ही एक बहुत अच्छा कारण है।

5 Beautiful Place to Visit in Uttarakhand : उत्तराखंड की खूबसूरत जगह जहां आपको जरूर जाना चाहिए।

Dronagiri village In Chamoli : स्थानीय निवासियों के लिए पूरा Dronagiri mountain एक देवता के समान है और वह इस पर्वत की पूजा भी करते हैं। महाकाव्य रामायण के अनुसार, जब रावण द्वारा सीता माता का हरण किए गया था उसके पश्चात, रावण की सेनाओं एवं राम-लक्ष्मण के मध्य एक विशाल युद्ध छिड़ गया। युद्ध में, रावण के पुत्र मेघनाद के द्वारा लक्ष्मण को गंभीर रूप से घायल कर दिया गया था, जिसके पश्चात लक्ष्मण बेहोश हो गया थे।

Dronagiri village In Chamoli : इसके पश्चात हनुमान जी जीवन रक्षक संजीवनी बूटी खोजने के लिए निकल पड़े थे। यह औषधीय जड़ी बूटी Dronagiri mountain की चोटी पर ही उगती है। लेकिन जब हनुमान पहाड़ पर पहुंचे तो वे पौधे को नहीं पहचान पाए और उन्होंने अंततः पहाड़ की चोटी को तोड़ दिया और उसे अपने साथ वापस ले गए जहां लक्ष्मण थे।

Dronagiri village In Chamoli
Dronagiri village In Chamoli

अब यह सब महाकाव्य से है; लेकिन संयोग से, पहाड़ में एक सपाट हुई चोटी है, जिसे स्थानीय लोग का मानना है कि हनुमान जी ने इसे तोड़ा है। अपने देवता का अंग भंग करने के कारण से गांव के लोग हनुमान से नाराज हैं।

Dronagiri village In Chamoli : यही कारण से यहां के अधिकांश ग्रामीण लोग हनुमान जी की आराधना नहीं करते हैं। कुछ वर्ष पूर्व तक अगर गांव वालों को यह पता चलता था कि किसी के द्वारा हनुमान जी की पूजा की जा रही है तो उस व्यक्ति/परिवार को गांव से तुरंत निकाल दिया जाता था।

समय के साथ अब शायद ही किसी व्यक्ति को हनुमान जी की पूजा करने पर गांव से निकाला जाता होगा लेकिन द्रोणागिरी, संजीवनी बूटी और हनुमान की कथा यहां रहने के लिए है।

FAQ – Dronagiri village In Chamoli

Dronagiri village कहाँ स्थित है ?

Dronagiri village In Chamoli जिले उत्तराखंड में द्रोणागिरी पर्वत की तलहटी में स्थित है।

क्या वास्तव में Dronagiri mountain In Uttarakhand मैं संजीवनी बूटी है ?

शोधकर्ताओं को अभी तक इसका कोई प्रमाण नहीं मिला है कि Dronagiri mountain In Uttarakhand मैं संजीवनी बूटी मिलती है।

Dronagiri village मैं क्या किया जा सकता है ?

Dronagiri village मैं जाकर आप Dronagiri Trek कर सकते हैं एवं यहां के प्रसिद्ध द्रोणागिरी मंदिर के भी दर्शन कर सकते हैं।



Related Articles

Back to top button
Harmanpreet Kaur captain of the India Women’s National Cricket Team Education institutions in Karnataka begin crackdown on ChatGPT usage The Stardust 50th Anniversary Photos by Photographs -Pradeep Bandekar Vampire Diaries actor Annie Wersching has died at 45 Jennifer Lopez Latest Exclusive Trending Instagram Pictures