पर्सनल लोन क्या है ?
पर्सनल लोन क्या है ?

पर्सनल लोन क्या है ? जाने इससे संबंधित महत्वपूर्ण बातें | Personal Loan Kya Hai ? |

पर्सनल लोन सबसे प्रचलित लोन है अन्य लोन के मुकाबले क्योंकि इसका उपयोग बहुत सी जरूरतों के लिए किया जा सकता हैं।

अपनी खरीदारी एवं वित्तीय जरूरतों की पूर्ति के लिए व्यक्ति लोन लेने का निर्णय ले सकता है जिसको वह अन्यथा पूंजी की कमी के कारण नहीं कर पा रहे हैं Personal Loan के अलावा अन्य कई तरीके के लोन होते हैं व्यक्तियों की विभिन्न जरूरतों के अनुसार।

वर्तमान समय में आर्थिक जरूरतों की पूर्ति के लिए बैंकों एवं एनबीएफसी के द्वारा विभिन्न प्रकार के लोन उपलब्ध कराए जाते हैं जैसे :- होम लोन, ऑटो लोन, कार लोन, पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन एवं अन्य. इन सभी लोन में सर्वाधिक लोकप्रिय लोन Personal Loan ही है क्योंकि इसका उपयोग विभिन्न जरूरतों के लिए किया जा सकता है जो सुविधा अन्य प्रकार के लोन में बहुत कम ही मिलता है जैसे :- होम लोन का उपयोग आवेदक केवल घर बनाने के लिए कर सकता है लेकिन Personal Loan का उपयोग आवेदक अपनी व्यक्तिगत जरूरतों की पूर्ति के लिए कर सकता है जिसके बारे में लेख में आगे बताया जाएगा।

पर्सनल लोन क्या है ?

पर्सनल लोन असुरक्षित लोन की श्रेणी में आता है जिसको व्यक्ति कई अलग-अलग उद्देश्यों की पूर्ति के लिए बैंक से उधार ले सकता हैं। Personal Loan में आवेदक को एक प्रकार की वित्तीय स्वतंत्रता मिलती है लोन राशि को उपयोग करने की, पर्सनल लोन का उपयोग आवेदक चिकित्सा व्यय, शादी, यात्रा के लिए, शिक्षा के लिए एवं कोई वस्तु खरीदने के लिए कर सकता है। Personal Loan को उपभोक्ता लोन के रूप में भी जाना जाता है।

Personal Loan का भुगतान लंबी अवधि में करना बेहतरीन विकल्प क्यों हो सकता है ?

Personal Loan सबसे लोकप्रिय है क्योंकि यह असुरक्षित लोन की श्रेणी में आता है इसका मतलब यह हुआ इसके लिए किसी प्रकार का कोई कॉलेटरल या वस्तु गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती। बैंक एवं एनबीएफसी के द्वारा पर्सनल लोन देते समय आवेदक का रोजगार का इतिहास, भुगतान की क्षमता ,आय के स्रोत एवं क्रेडिट इतिहास के आधार पर Personal Loan दिया जाता है। असुरक्षित लोन की श्रेणी में आने के कारण ही पर्सनल लोन की ब्याज दरें अन्य लोन की तुलना में अधिक होती हैं।

यदि हम सुरक्षित लोन की बात करें तो उसमें गिरवी रखी गई सामग्री के समानुपाती ही लोन राशि उपलब्ध कराई जाती है, जबकि इसके विपरीत असुरक्षित लोन पर्सनल लोन के लिए आवेदक की आय के स्रोत, पेशे, क्रेडिट इतिहास जैसे महत्वपूर्ण बिंदुओं की जांच की जाती है जिसके पश्चात बैंक एवं एनबीएफसी के द्वारा यह प्रयास रहता है कि आवेदक की मासिक किस्त उसके वेतन की 40-50 प्रतिशत से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इसके साथ-साथ अन्य लोन के मुकाबले Personal Loan जल्दी उपलब्ध भी हो जाता है जिसके लिए आवेदक को अपने दस्तावेज जैसे आय का प्रमाण (वेतन पर्ची, बैंक खाता विवरण, आईटीआर फॉर्म), निवास का प्रमाण और लोन प्रदान करने के लिए पहचान प्रमाण की आवश्यकता होती है। इसके साथ-साथ बैंकों एवं एनबीएफसी के द्वारा कुछ अन्य पात्रता भी रखी गई है जो सभी बैंक में कुछ सामान्य इस प्रकार है आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए ,आवेदक की आयु सीमा 21 वर्ष से 60 वर्ष के मध्य होनी चाहिए, आवेदक के पास आय का स्रोत होना चाहिए, आवेदक के पास एक बैंक खाता होना चाहिए एवं आवेदक का क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होनी चाहिए।

वर्तमान समय में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर कई प्रकार की पर्सनल लोन उपलब्ध करवाने वाली एप्लीकेशन मौजूद है इसमें कौन सी आपके लिए सही है उसके लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु जिसका आपको आवेदन करने से पूर्व ध्यान रखना होगा, हो सके तो आवेदक प्रतिष्ठित सरकारी या प्राइवेट बैंक एवं एनबीएफसी के प्लेटफार्म पर जाकर ही आवेदन करें इसके अलावा आवेदक मौजूद लोन एप्लीकेशन में लोनप्रदाता आरबीआई पंजीकृत है या नहीं उसकी भी जांच करें, लोन प्रदाता के ऑफिस का एड्रेस एवं कस्टमर केयर पर बात करके भी जानकारी ले. पूरी जांच पड़ताल करने के पश्चात जब आप पूर्णता संतुष्ट हो उसके पश्चात ही आवेदन करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *