यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड 2022 किसान के लिए सर्वश्रेष्ठ क्रेडिट पावर - bimaloan.net
Financial

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड 2022 किसान के लिए सर्वश्रेष्ठ क्रेडिट पावर

Listen to this article
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड 2022 किसान के लिए सर्वश्रेष्ठ क्रेडिट पावर

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा भारतीय किसानों इसके उपयोग से अत्यधिक लाभ प्राप्त कर सकते है यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा चाहे किसान को खेती की अल्पकालिक आवश्यकताओं के लिए लोन चाहिए हो , चाहे किसान को फसल के बाद की जरुरत के लिए खर्च चाहिए हो , किसान को किसी प्रकार की खपत की आवश्यकता हो चाहे , मार्केटिंग की जरुरत के लिए लोन चाहिए हो , चाहे कृषि निवेश के लिए लोन चाहिए हो जरूरतों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जा सकता है , अन्य कृषि सम्बंधित जरूरतों जैसे की फिटिंग स्प्रेयर हो पंप सेट हो ,डेरी के लिए पशुओं ,मत्स्य पालन,आदि जरूरतों के लिए उपयोग किया जा सकता है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया भारत में प्रसिद्ध सरकारी बैंको में से एक है जिसका ओनरशिप वित्तमंत्रालय है , अप्रैल 2020 में आंध्र बैंक एवं कॉर्पोरेशन बैंक भी यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में सम्मलित हो गए थे , जिसके बाद ये भारत का 5 वे नंबर का सरकारी बैंक बन गया है , जिसकी भारत में लगभग 9500 बैंक शाखाए मौजूद है ,एवं कुछ शाखाए विदेशो में भी है ,आज हम इनके ही एक उत्पाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में विस्तार से जानेंगे।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड की विशेषताएं

  • फसलों की खेती के लिए यदि अल्पकालिक लोन की आवश्यकता हो।
  • फसल में यदि कोई बाद में खर्च होता है।
  • उत्पादन मार्केटिंग लोन।
  • इसका उपयोग किसान अपने परिवार की खपत की आवश्यकताओं के लिए कर सकता है ।
  • कृषि सम्पति एवं कृषि से सम्बंधित गतिविधियों जैसे की डेरी पशु , मत्स्य पालन एवं आदि के रखरखाव के लिए वर्किंग कैपिटल की जरुरत के लिए ।
  • कृषि सम्बंधित अन्य गतिविधियों जैसे की पंप सेट , स्प्रेयर , डेरी पशु आदि में निवेश सम्बंधित लोन की आवश्यकताओं के लिए ।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड लोन की सीमा / लोन राशि का आकलन

सीमान्त किसानों ( मार्जिनल फार्मर ) को छोड़कर अन्य सभी किसानों के लिए

  • पहले वर्ष के लिए : एक वर्ष में एक फसल उगाने वाले किसान (वित्त का पैमाना * खेती का क्षेत्र +(प्लस) फसल के बाद की सीमा का 10% / फसल के बाद / खपत के समय की जरूरतों के लिए +(प्लस) खेत की संपत्ति की मरम्मत करने एवं देखरेख के खर्च की सीमा का 20% +(प्लस) फसल बीमा, PAIS और संपत्ति बीमा।
  • बाद के वर्षों के लिए: प्रथम वर्ष की सीमा प्लस सीमा का 10% लागत वृद्धि / प्रत्येक क्रमिक वर्ष के लिए वित्त के पैमाने में वृद्धि और किसान क्रेडिट कार्ड की अवधि के लिए अनुमानित सावधि लोन।
  • यदि डीएलटीसी द्वारा किसी भी वर्ष के लिए वित्त के पैमाने में संशोधन 10% की अनुमानित वृद्धि से अधिक है, तो एक संशोधित आहरण सीमा तय की जा सकती है और किसान को इसके बारे में सलाह दी जाती है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड टर्म लोन निवेश

टर्म लोन भूमि विकास, लघु सिंचाई, कृषि उपकरणों की खरीद एवं संबद्ध कृषि गतिविधियों में निवेश करने के लिए दिया जाता है। कृषि से सबंधित गतिविधियों आदि के लिए सावधि और कार्यशील पूंजी सीमा के लिए लोन की मात्रा एवं किसान द्वारा अधिग्रहित की जाने वाली संपत्ति की इकाई लागत के लिए खेत पर पहले से की जा रही सबंधित गतिविधियों के आधार पर निकाली जाती है। और वर्तमान में चल रहे मौजूदा लोन के दायित्वों सहित, किसान पर होने वाले कुल लोन बोझ को चुकाने की क्षमता पर।

लंबी अवधि की लोन की सीमा पांच साल की अवधि के दौरान प्रस्तावित निवेश और किसान की चुकाने की क्षमता पर बैंक के द्वारा निर्धारित किया जाता है।

अधिकतम अनुमेय सीमा ( मग्जिमाम परमिसिबल लिमिट )

5वें वर्ष के लिए आंकी गई शार्ट टर्म लोन सीमा और अनुमानित दीर्घकालिक लोन आवश्यकता मग्जिमाम परमिसिबल लिमिट (एमपीएल) होगी और इसे किसान क्रेडिट कार्ड सीमा के रूप में माना जाएगा।

सब लिमिट का निर्धारण

ब्याज दरों, पुनर्भुगतान अनुसूची और मानदंडों में अंतर के कारण कार्ड की सीमा को शार्ट टर्म लोन सीमा कम सेविंग अकाउंट और टर्म लोन के लिए अलग-अलग उप-सीमाओं में विभाजित किया गया है।

सीमांत किसानों (मार्जिनल फार्मर) के लिए

10000 रुपये से लेकर 50000 रुपये की तक की एक सुविधाजनक सीमा प्रदान की जाती है (फ्लेक्सी KCC के रूप में) जो कि फसल के बाद के गोदाम में भंडारण से संबंधित लोन जरूरतों एवं अन्य कृषि खर्चों, खपत की जरूरतों, आदि के साथ-साथ सहित उगाई गई फसलों के आधार पर प्रदान की जाती है। जैसे कृषि उपकरणों की खरीद के लिए, मिनी डेयरी/बैकयार्ड पोल्ट्री की स्थापना आदि के लिए बैंक मैनेजर के आकलन के अनुसार भूमि के मूल्य से संबंधित किए बिना। इस आधार पर पांच साल की अवधि के लिए समग्र KKC की सीमा तय की जाती है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड भुगतान (वितरण)

  • KCC सीमा का शार्ट टर्म कॉम्पोनेन्ट रिवॉल्विंग कैश लोन सुविधा की प्रकृति का है।
  • डेबिट एवं क्रेडिट की संख्या में किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं है।
  • चल रहे सीजन एवं वर्ष के लिए आहरण(ड्राइंग) सीमा को निम्नलिखित में से किसी भी डिलीवरी चैनल का उपयोग करके निकालने की अनुमति दी जा सकती है जैसे: शाखा के माध्यम से संचालन, चेक सुविधा का उपयोग, ATM सक्षम KCC के माध्यम से निकासी, व्यापार संवाददाताओं के माध्यम से संचालन, चीनी मिलों एवं अनुबंध कृषि कंपनियों में उपलब्ध POS के माध्यम से संचालन, इनपुट डीलर, कृषि इनपुट डीलरों और मंडियों में मोबाइल आधारित हस्तांतरण लेनदेन आदि।
  • पात्र किसानों को ATM सक्षम RuPay कार्ड जारी करना।

ब्याज दर
ROI को MCLR से जोड़ा जाएगा। हालांकि, यदि सीमा के किसी भी कॉम्पोनेन्ट के लिए सरकार समर्थित ब्याज सबवेंशन (subvention) प्रदान किया जाता है, तो ब्याज की दर उसके अनुसार तय की जा सकती है।

पुनर्भुगतान की समयसीमा


जिन फसलों के लिए लोन दिया दिया जा रहा है,उनकी भुगतान अवधि संभावित कटाई और मार्केटिंग अवधि के अनुसार निर्धारित की जा सकती है।
टर्म लोन कॉम्पोनेन्ट सामान्यत: निवेश लोन के लिए लागू मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुसार गतिविधि/निवेश के प्रकार के आधार पर 5 वर्षों की अवधि के भीतर चुकाने योग्य होगा।

मार्जिन
फसल लोन के लिए कोई अतिरिक्त मार्जिन नहीं। टर्म लोन कॉम्पोनेन्ट के लिए, मार्जिन होगा
रु. 1.00 लाख तक – शून्य
1.00 लाख से अधिक – 15%

सुरक्षा
1.00 लाख तक- फसलों का (Hypothecation)दृष्टिबंधक
जमीन का गिरवी रखना के साथ फसलों के बंधक एवं संपत्तियों के अलावा तीसरे पक्ष की गारंटी।
जिन भी राज्यों में बैंकों के पास यदि भू-अभिलेखों पर ऑनलाइन माध्यम से प्रभार सृजित करने की सुविधा उपलब्ध है उनके द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड पात्रता मानदंड

  • सभी किसान – व्यक्तिगत एवं संयुक्त उधारकर्ता जो मालिक किसान हैं।
  • काश्तकार किसान एवं मौखिक पट्टेदार और बटाईदार।
  • काश्तकार किसानों एवं बटाईदारों आदि सहित किसानों के SHGs /JLGs।

दस्तावेज़ीकरण

  • यह योजना पहले वर्ष के लिए वित्त के पैमाने का निर्धारण और बाद में प्रत्येक वर्ष के लिए वृद्धि प्रदान करती है। इसलिए बैंक द्वारा अधिकतम सीमा के लिए ही डॉक्यूमेंटेशन किया जाएगा ताकि खाते की वैधता के दौरान डॉक्यूमेंटेशन की कोई आवश्यकता न हो।
  • जहां कक की वैधता अवधि 5 वर्ष है वहां 3 वर्ष की समाप्ति से पहले किसान से एक नया पत्र लेकर खाते को नवीनीकृत करने की कानूनी आवश्यकता हो सकती है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड अन्य विशेषताएं

  • मानदंडों के अनुसार तत्काल भुगतान के लिए ब्याज (subvention/incentive) सबवेंशन/प्रोत्साहन उपलब्ध है।
  • अनिवार्य फसल बीमा के अलावा, KCC धारकों के पास संपत्ति बीमा, व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना (PAIS) और स्वास्थ्य बीमा का लाभ लेने का विकल्प होना चाहिए।
  • 3.00 लाख रुपये की कार्ड सीमा तक कोई प्रोसेसिंग फीस नहीं चार्ज की जाती है।
  • KCC शार्ट टर्म उप-सीमा कम SB खातों को KCC/SB खाते में जमा शेष को सक्षम करने के लिए SB दर पर ब्याज प्राप्त करने की अनुमति दी जाएगी।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर नंबर
भारत के लिए टोल फ्री नंबर : 1800 22 22 44/1800 208 2244
चार्ज किए गए नंबर: 080-61817110
एनआरआई के लिए समर्पित संख्या: +918061817110

* यूनियन बैंक ऑफ इंडिया किसान क्रेडिट कार्ड से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए नजदीकी यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया की शाखा या इनकी वेबसाइट से प्राप्त करे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Neha Sharma with her sister Aisha Sharma Pictures कोलेस्ट्रॉल को दूर रखने के लिए आजमाएं ये 5 हेल्दी ड्रिंक India vs Australia 3rd T20 Match Highlights Google Pay में कई UPI ID कैसे सेट कर सकते हैं ? जाने पूरी प्रक्रिया ? Uttarakhand : 844 पर, उत्तराखंड में जन्म के समय लिंगानुपात सबसे खराब